क्या हिंदी को अनिवार्य रूप से भारत की आधिकारिक राष्ट्रभाषा घोषित कर देनी चाहिए ?

भारत की राष्ट्रभाषा क्या होनी चाहिए

Level 2 on August 10, 2017 पूछा गया, कैटेगरी- सामान्य.
टिप्पणी जोड़ें
3 उत्तर

जी हां बिलकुल …..भारत में हिंदी को बोलने , पढ़ने और समझने वाले सबसे अधिक लोग है । एवं दूसरा तर्क यह है कि जब भारत देश में सभी (अधिकांश) कानूनों , नियमों को विदेशों की नकल करके बनाया गया है तो और देशों की तरह एक देश एक भाषा क्यों नही ।

नया लेखक on August 13, 2017 उत्तर दिया गया
टिप्पणी जोड़ें

हां , क्योकि यदि हम भारतीय स्वयं अपनी मातृ भाषा को आधिकारिक भाषा का दरजा अनिवारय रूप से नहीं देंगे तो इसका अस्तित्व खतरे मे पड सकता है। आने वाले समय में हिंदी के आधिकारिक अनिवार्यता के आभाव के कारण लोग इसकी अनदेखि कर सकते हैं।

नया लेखक on August 13, 2017 उत्तर दिया गया
टिप्पणी जोड़ें

हां हिंदी भाषा को ही भारत की राष्ट्रीय भाषा होनी चाहिए |

राष्ट्र की एक ही भाषा होने से क्षेत्रवाद और भाषावाद नहीं फैलता और अपने देश के दूसरे भाग में जाने पर बोलचाल की भाषा मैं फरक होने के बाद भी आप अपनी हिंदी भाषा में बात कर सकते हैं |

नया लेखक on August 17, 2017 उत्तर दिया गया
टिप्पणी जोड़ें

आपका उत्तर